कांकिनाड़ा केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक पर्व मनाया गया

0
436

कांकिनाड़ा (टुडे न्यूज़). उत्तर 24 परगना के कांकिनाड़ा केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक पर्व पर
संकुल स्तर पर एक वेबीनार का आयोजन किया. जिसकी अध्यक्षता विद्यालय के प्राचार्य सत्य नारायण के द्वारा की गई. केंद्रीय विद्यालय संगठन के संकुल-3 के अंतर्गत कुल 10 विद्यालयों ने इस कार्यक्रम में शिरकत की जिसमें उन विद्यालयों के प्राचार्य महानुभावों ने अपने-अपने विषय पर प्रकाश डाला .नई शिक्षा नीति के अंतर्गत गुणवत्ता और सतत विकासमान विद्यालय के अंतर्गत अपने अपने विचार रखें जो कुछ इस प्रकार रहे-
केंद्रीय विद्यालय कांकीनाडा
सत्य नारायण प्राचार्य
गुणवत्ता एवं सतत विकासमान विद्यालय विषय पर सारगर्भित विचार रखते हुए यह बताया कि नई शिक्षा के अंतर्गत समाज के हर वर्ग का विकास करना इस नीति का परम लक्ष्य है . इसे प्राप्त करने के लिए केंद्रीय विद्यालय संगठन के विभिन्न विद्यालय सतत प्रयासमा. श सत्य नारायण , प्राचार्य ने संवादताओं से बात करते हुए सभी अभिभावकों , शिक्षकों , विद्यार्थियों से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के भाषण को देखने को आवाह्न किया .
.राष्ट्रीय डिजिटल एजुकेशन आर्किटेक्चर विषय पर अपने मंतव्य और विचार को रखते हुए . केंद्रीय विद्यालय कांचरापाड़ा-2
के प्राचार्य सबीहा शाहीन ने बताया कि इस कोरोना वायरस के समय जब दुनियाँ अपने घरों मे सिमटी हुई है तो डिजिटल माध्यमों ने हमे और हमारे छत्रों को एक दूसरे से जोड़ रखा है . शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटल उपकरणों का अधिकाधिक उपयोग करके शिक्षण कार्य को संपन्न करवाया जा रहा है.
केंद्रीय विद्यालय इच्छापुर -2 प्राचार्य बीबी महतो ने बताया कि शैशव काल में संरक्षण एवं शिक्षा को किस प्रकार से नई शिक्षा नीति संपोषित करती है. इस सारगर्भित विषय विचार रखते हुए उन्होंने नई शिक्षा नीति के 5+3+3+4 के सिद्धांत की व्याख्या की और यह बताने का प्रयास किया की शिक्षा शतक चलने वाली प्रक्रिया है .
नई शिक्षा नीति के तहत आने वाले एक अन्य महत्वपूर्ण विषय फंडामेंटल लिटरेसी एंड न्यूमैरेसी पर अपने विचार रखते हुए.
केंद्रीय विद्यालय बेंड़ेल
प्राचार्य पीके गुप्ता ने कहा कि शैशव काल में अक्षर एवं अंको का ज्ञान किस प्रकार से छात्रों को कराया जाए. इस विषय पर अपने मंतव्य प्रकट किए. केंद्रीय विद्यालय कंचरापारा-1 के
स्नातकोत्तर शिक्षिका (संगणक) पायल भट्टाचार्य ने बताया कि शिक्षिका ने शिक्षा में तकनीक का प्रयोक विषय पर अपने विचार रखते हुए बताया कि आज किस प्रकार से केंद्रीय विद्यालय संगठन आधुनिक तकनीकों का प्रयोग करते हुए छात्रों के पठन-पाठन को सुगम एवं सरल बना रहा है एवं देश के भविष्य को भी गढ़ता एवं सँवारता हुआ आगे बढ़ रहा है .प्राचार्य सुदीप मंडल , प्राचार्य बी बी महतो प्राचार्य अभिजीत साहा ,प्राचार्य श्यभु रजक, प्रभारी प्राचार्य केदार सिंह ,प्रभारी प्राचार्य
दिनकर कुमार, मुख्य अध्यापक विश्वजीत वनिक, ने इस वेबीनार में उपस्थित रहकर कार्यक्रम के साक्षी रहे.
अपने अध्यक्षीय भाषण में केंद्रीय विद्यालय कांकीनाडा
प्राचार्य सत्य नारायण ने बताया कि देश के सतत विकास के लिए अपने-अपने स्तर पर सभी को पूरे तन-मन-धन से कार्य करने के लिए प्रेरित किया एवं नई शिक्षा नीति को सफल बनाने हेतु सभी का आह्वान किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here